गाज़ियाबाद में अवैध हथियारों का भंडारण करने वाले गैंग का पर्दाफाश यूपी चुनाव को करना चाहते थे प्रभावित

सद्दमा हुसैन रिपोर्टर तहलका न्यूज़

गाजियाबाद में अवैध हथियारों का भंडारा करने वाले गैंग का पर्दा हुआ फाश यूपी विधानसभा चुनाव को प्रभावित करने की तैयारी करने वाले गैंग का पर्दाफाश हुआ है। स्वाट टीम और मुरादनगर थाना पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में एक अवैध असला बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया गया है। पुलिस ने इनके कब्जे से भारी मात्रा में अवैध हथियारों के अलावा हथियार बनाने के उपकरण भी बरामद किए हैं। पुलिस ने मौके से हथियारों की फैक्ट्री चलाने वाले 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।
एसएसपी पवन कुमार ने चलाया खास अभियान क्षेत्राधिकारी आकाश पटेल ने बताया कि गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पवन कुमार के निर्देशानुसार जिले में अपराध, अपराधियों और अवैध शस्त्रों की तस्करी के विरुद्ध एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत थाना मुरादनगर पुलिस और स्वाट टीम की संयुक्त कार्रवाई में मुरादनगर क्षेत्र अंतर्गत चलने वाली अवैध पिस्टल, तमंचे और बंदूक बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया गया है। 5 आरोपी गिरफ्तार
इस दौरान मौके से पुलिस ने अमन उर्फ अन्नू रांगण, नूर हसन सैफी, सलमान कुरेशी, सुहेल मलिक और युसूफ रांगढ़ को गिरफ्तार किया है। यह सभी अपराधी गाजियाबाद के मुरादनगर इलाके में अवैध फैक्ट्री में बनाए गए अवैध हथियारों की सप्लाई मेरठ और दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में ऑन डिमांड किया करते थे। आगामी विधानसभा चुनाव को प्रभावित करने के उद्देश्य से यह सभी लोग भारी मात्रा में अवैध असला का निर्माण कर रहे थे, लेकिन पुलिस के विश्वसनीय सूत्रों के बाद मौके पर छापेमारी करके हथियारों की अवैध फैक्ट्री का पर्दाफाश किया है। 20 हजार रुपए महीना किराए
क्षेत्राधिकारी ने बताया कि गहन पूछताछ पर गिरफ्तार किए गए आरोपियों ने बताया कि इन सभी लोगों ने मेरठ के रहने वाले जहीरूद्दीन का मकान 20 हजार रुपए महीना किराए पर लिया हुआ है। इसके पहले जहीरूद्दीन भी खुद इस मकान में ही अवैध शस्त्र का निर्माण किया करता था, लेकिन अब मेरठ के ही रहने वाले 5 शातिर अपराधियों ने इसी मकान में हथियार बनाने की फैक्ट्री संचालित कर दी।
चुनावी माहौल को बिगड़ने का प्रयास पूछताछ के दौरान अपराधियों ने बताया कि यह लोग हथियार बनाकर अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर दूरदराज के इलाकों में भी सप्लाई किया करते थे। चुनावी माहौल में अवैध हथियारों की भारी मांग होने के कारण हथियारों की अच्छी बिक्री भी हो रही थी। इसलिए यह लोग यहां भारी मात्रा में हथियार बना रहे थे और इनकी लगातार सप्लाई हो रही थी। भारी मात्रा में हथियार बरामद अपराधियों ने बताया है कि 315, 12 और 32 बोर के कारतूस यह लोग रहीस लंबू और सोनू निवासी राधना थाना किठौर मेरठ से भारी मात्रा में लेकर सप्लाई करते थे। हर बार यह पुलिस को चकमा देने में कामयाब हो जाते थे, लेकिन इस बार इन्हें धर दबोचा गया है। तहलका न्यूज़ के लिए गाजियाबाद से सद्दाम हुसैन की रिपोर्ट

Leave a Reply

%d bloggers like this: