मुंबई फिल्म निर्देशक दिल आवेज खान किसी परिचय के मोहताज नहीं खान का जलवा बरकरार दिल आवेज़ खान के बारे में कुछ रोचक जानकारियां

दिलआवेज़ खान फ़िल्म निर्देशक का जलवा बरक़रार
मुंबई : फ़िल्म निर्देशक दिलआवेज़ खान किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं, हिंदी फिल्म “क़हर” से सहायक निर्देशक के तौर पर अपने कैरियर की शुरुआत करने वाले दिलआवेज़ खान ने हिंदी फिल्म जानी दुश्मन, जानाँ लेट्स फॉल इन लव, बिल्ला नम्बर 786, बंगाल टाइगर, नो इंट्री, धूम धड़ाका, दिल लगाकर देखो, ए फँसा, जैक एन झोल, टॉवर हॉउस, आतंकराज, हुस्न, शहीद-ए-कारगिल, द रिवेंज गीता मेरा नाम, महिमा काशी विश्वनाथ की, अनलिमिटेड नशा, आखिरी डील, अपना बना ले मेरी जान, इश्क़ जानलेवा, शातिर, भयानक, से यस टू लव, रामगढ़ की रामकली, रूपा रानी रामकली, बहलोल दाना, इसी का नाम ज़िंदगी (डॉक्युमेंट्री फ़िल्म) सहित कई फिल्मों और सीरियलों में सहायक निर्देशक व मुख्य सहायक निर्देशक के तौर पर काम किया है ।
गया (बिहार) ज़िले के शेरघाटी के रहने वाले दिलआवेज़ खान बचपन से ही फिल्मों में काम करना चाहते थे। उनके चाचा अली खान बॉलीवुड में विलेन के रूप में सुप्रसिद्ध हैं। दिलआवेज़ खान फ़िल्म उद्योग में अपना कैरियर तलाशने के लिए मुंबई गये, उन दिनों सुप्रसिद्ध फ़िल्म निर्देशक राजकुमार कोहली सन्नी देओल के साथ फ़िल्म “क़हर” की तैयारी कर रहे थे, कोहली साहब ने दिलआवेज़ खान को उस फिल्म में सहायक निर्देशक के तौर पर शामिल कर लिया, उसके बाद इनके टैलेंट को देखते हुए राजकुमार कोहली अपनी मल्टीस्टारर फ़िल्म जानी दुश्मन-अक्षय कुमार सुनील शेट्टी सन्नी देओल मनीषा कोईराला के साथ करने वाले थे, उस फिल्म में इन्हें मुख्य सहायक निर्देशक के साथ ही साथ इनकी स्क्रिप्ट राइटिंग की समझ को देखते हुए स्क्रिप्ट राईटिंग ग्रुप में भी शामिल कर लिया गया। कई फिल्मों में सहायक निर्देशक के तौर पर काम करने के बाद दिलआवेज़ खान को बतौर निर्देशक भोजपुरी फिल्म साली बड़ी सतावेली का ऑफर मिला, इस फ़िल्म में रानी चटर्जी को लेने का निर्णय लिया। फ़िल्म में रवि किशन पति, रिंकू घोष पत्नी एवं रानी चटर्जी को साली का रोल दिया गया। आपको बता दें कि रियल लाइफ में भी रानी चटर्जी दिलआवेज़ खान की अपनी साली है। साली बड़ी सतावेली फिल्म ने बहुत ही अच्छा प्रदर्शन किया।
दिलआवेज़ खान ने हिंदी फिल्मों के साथ-साथ कई सीरियलों में भी सहायक निर्देशक के रूप में काम किया। जैसे: पैंथर, कभी आये ना जुदाई, कहता है दिल, काँच, ख्वाहिशें हज़ारों, तक़दीर, रेशमा, अनकहे जज़्बात, बहुत टेंशन है भाई, ये ज़िद है हमारी, आदि प्रमुख हैं।
दिलआवेज़ खान की भोजपुरी फिल्म “मच गईल ग़दर प्यार में” सिनेमा हॉल में और हिंदी शॉर्ट फिल्म सबक़ द लेसन, रेनबो, झोला छाप डॉक्टर एमएक्स प्लेयर पे रिलीज़ के लिए तैयार है। दिलआवेज़ खान ने बताया कि 2022 में कई नये प्रोजेक्ट पर काम कर रहा हूँ, सब कुछ ठीक ठाक रहा तो हमारी टीम हंगामा मचाने के लिए अभी से ही बेक़रार है। TAHALKANEWS OFFICE CON NO 9198041777  

Leave a Reply

%d bloggers like this: