मुंबई 3062, नागपुर, 3235, केरल 1984, कर्नाटक 1587- क्या फिर कोरोना विस्फोट की तरफ बढ़ रहा है देश?

मुंबई 3062, नागपुर, 3235, केरल 1984, कर्नाटक 1587- क्या फिर कोरोना विस्फोट की तरफ बढ़ रहा है देश?

महाराष्ट्र के अलावा कई और राज्य भी चिंता का सबब बनते जा रहे हैं. (AP- इमेज)

एक तरफ महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना रुकने का नाम नहीं ले रहा तो दूसरी केरल (Kerala), कर्नाटक (Karnataka) और पंजाब (Punjab) जैसे राज्यों ने सरकारों की चिंता दोगुनी कर दी है. शुक्रवार को महाराष्ट्र के सिर्फ दो शहरों मुंबई (Mumbai) और नागपुर (Nagpur) में 6 हजार से ज्यादा कोरोना मामले सामने आए हैं. वहीं केरल से 1984 और कर्नाटक से 1587 मामले सामने आए हैं.
मुंबई. देश में कोरोना मामले (New Covid Cases) किस रफ्तार से आगे बढ़ रहे हैं इसका नमूना शुक्रवार को एक बार फिर सामने आया. एक तरफ महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोरोना रुकने का नाम नहीं ले रहा तो दूसरी केरल (Kerala), कर्नाटक (Karnataka) और पंजाब (Punjab) जैसे राज्यों ने सरकारों की चिंता दोगुनी कर दी है. शुक्रवार को महाराष्ट्र के सिर्फ दो शहरों मुंबई (Mumbai) और नागपुर (Nagpur) में 6 हजार से ज्यादा कोरोना मामले सामने आए हैं. वहीं केरल से 1984 और कर्नाटक से 1587 मामले सामने आए हैं. याद रखना होगा कि केरल और कर्नाटक देश के दो ऐसे राज्य रहे हैं जिनकी कोरोना की पहली लहर रोकने के लिए जमकर तारीफ हुई थी. लेकिन अब ये राज्य भी बढ़ते मामलों को रोक पाने में नाकामयाब हो रहे हैं.

महाराष्ट्र की चिंताजनक स्थित के बीच राज्य के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि अगर लोग कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं करेंगे तो भविष्य में सख्ती बरती जा सकती है और लॉकडाउन एक विकल्प हो सकता है. बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना मरीजों की संख्या 2020 के सितंबर वाले स्तर तक पहुंच चुकी है. केंद्र ने भी राज्य को तेजी से बढ़ते मामले रोकने की ताकीद की है.

महाराष्ट्र में कोविड-19 के मामले सितंबर 2020 के स्तर पर पहुंच चुके हैं
उद्धव ने कहा कि राज्य में कोविड-19 के मामले सितंबर 2020 के स्तर पर पहुंच चुके हैं. अच्छी बात ये है कि हमारे पास इस वक्त वैक्सीन है. लोगों को वैक्सीन दी जा रही है. राज्य के निवासियों को नियमों का पालन करना चाहिए ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके. लेकिन अगर नियमों को लोग नहीं मानेंगे तो भविष्य में सख्ती बरती जा सकती है.
कर्नाटक और केरल में भी सख्त किए गए नियम

वहीं कर्नाटक और केरल में भी बढ़ते मामलों के मद्देनजर सरकारों ने नियम सख्त कर दिए हैं. केरल में विधानसभा चुनाव भी हो रहे हैं. इस वजह से सरकार की तरफ से कोरोना  नियमों के पालन की और ज्यादा सख्त ताकीद की गई है.

पंजाब के 22 जिलों में लागू है नाइट कर्फ्यू
इसके अलावा पंजाब में भी कई जिलों में नाइट कर्फ्यू की अवधि बढ़ाई गई है. राज्य में एक दिन पहले कोरोना के 2 हजार मामले सामने आए हैं. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राज्य के 22 जिलों में नाइट कर्फ्यू की अवधि को 2 घंटे और बढ़ा दिया है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: