ग्रामीण विकास की योजनाओं का लक्ष्य ससमय प्राप्त किया जाए जिलाधिकारी

0

ग्रामीण विकास की योजनाओं का लक्ष्य ससमय प्राप्त किया जाए जिलाधिकारी
रिपोर्ट प्रभंजन कुमार
समाहरणालय सभागार में ग्रामीण विकास की योजनाओं में लक्ष्य प्राप्ति की समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा ने कहा कि अगले एक माह को चुनौती के रूप में लेकर महत्तम प्रयास करें ताकि वैशाली जिला सभी मानकों पर बिहार के पहली पायदान पर चला जाय । जिलाधिकारी ने कहा कि विभाग से जो भी निर्देश प्राप्त हो रहे हैं उसे निचले स्तर तक प्रेषित की जाय ताकि जानकारी वहाँ तक पहुँच सके। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन उप विकास आयुक्त के द्वारा प्रगति की समीक्षा की जा रही है परन्तु जो गति मिलनी चाहिए वह प्राप्त नहीं हो रही है।

जिलाधिकारी ने कहा कि लोहिया स्वच्छ भारत अभियान से जुड़े लोग, पीओ मनरेगा, प्रखंड समन्वयक, पीआरएस और आवास सहायक सभी रडार पर हैं और अपनी कार्यशैली में सुधार कर लें और जो टास्क दिया जाय उसे ससमय पूरा करायें। सामुदायिक स्वच्छता परिसर निर्माण की समीक्षा में पाया गया कि कुल 500 परिसर निर्माण का लक्ष्य के विरूद्ध 296 का कार्य पूर्ण हैं जिसमें 83 का पूर्ण भुगतान किया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि 15 अगस्त तक सभी लक्ष्य प्राप्त करें।

पंचायतों में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन की समीक्षा में पाया गया कि पहले फेज के तहत कुल 63

पंचायत एवं दूसरे फेज के तहत 60 पंचायतों में यह कार्य किया जाना है। जिलाधिकारी ने कहा कि इस

माह के अंत तक प्रथम फेज का कार्य पूर्ण करायी जाय और डोर-टू-डोर कचरा उठाव आरंभ करायी

जाय दूसरे फेज के लिए 15 अगस्त तक सभी कार्य पूर्ण करा लेने का निदेश दिया गया। बैठक में उप

विकास आयुक्त के द्वारा बताया गया कि प्रथम फेज के लिए राशि पंचायतों को हस्तांतरित करा दी गयी

है। जिलाधिकारी ने कहा किइस माह के अंत तक कचरा डम्पिंग के लिए स्थल चिन्हित करते हुए वहाँ

चैम्बर बनवाना सुनिश्चित किया जाय। सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को इस कार्य को प्राथमिकता के

आधार पर पूरा कराने के लिए प्रति दिन अनुश्रवण करने का निदेश दिया गया।

प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन के लिए प्रत्येक प्रखंड में एक-एक प्रबंधन इकाई की स्थापना की जानी है। इसके लिए जिलाधिकारी ने कहा कि हर पंचायत के लिए प्लास्टिक अपशिष्ट इक्टठा करने के लिए एजेन्सी या कबाड़ी का चयन करलें और इक्ट्ठा किये गये अपशिष्ट का निलामी करें। इसके लिए सीपेट के साथ बैठक करने की भी बात कही गयी। जिलाधिकारी ने कहा कि प्लास्टिक अपशिष्ट से कई तरह के कच्चा माल तैयार किया जाएगा जिसका उपयोग सड़क निर्माण में भी किया जाएगा।

जिलाधिकारी ने कहा कि सभी कार्यों को गति देकर पूर्ण करायें ताकि आजादी के अमृत महोत्सव के दौरान 15 अगस्त के अवसर पर प्रत्येक पंचायत में मेगा इवेन्ट किया जा सके। इसकी तैयारी अभी से प्रारंभ कर दिया।

बैठक में उप विकास आयुक्त श्री चित्रगुप्त कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, डीआरडीए के पदाधिकारी, मनरेगा पीओ आदि उपस्थित थे

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।