महाराष्ट्र में 100 करोड़ रुपये में बनो कैबिनेट मंत्री! ठग ने की सीधे विधायक से बातचीत, चार गिरफ्तार

0

महाराष्ट्र में शिंदे सरकार को बने हुए काफी समय हो चुका है लेकिन अभी तक कैबिनेट विस्तार नहीं हो पाया है। मंत्रिमंडल विस्तार के लिए हर दिन एक नई तारीख सामने आती है। इसी का फायदा अब कुछ ठग भी उठाने की कोशिश कर रहे हैं। जो विधायक को सीधे 100 करोड़ में कैबिनेट मंत्री बनवाने का दावा कर रहे हैं।

 
Maharashtra Assembly
महाराष्ट्र विधानमंडल

हाइलाइट्स

  • महाराष्ट्र में 100 करोड़ रूपये में बनो कैबिनेट मंत्री
  • ठग ने विधायक से सीधे किया था संपर्क
  • मुंबई क्राइम ब्रांच ने चार आरोपियों को ट्रैप लगाकर चार गिरफ्तार
मुंबई:महाराष्ट्र (Maharashtra) में सत्ता परिवर्तन के एक पखवाड़े बाद भी मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं हुआ है। इन हालात में कुछ ठगों ने एक विधायक को मंत्री बनाने का लालच देकर उनसे मोटी रकम झटकने की साजिश रची। एक विधायक के निजी सचिव की शिकायत पर मुंबई क्राइम ब्रांच (Mumbai Crime Branch) ने चार आरोपियों रियाज शेख, योगेश कुलकर्णी, सागर संगवई और जाफर उस्मानी नामक को गिरफ्तार किया है। ऐडवोकेट अजय उमापति दुबे ने बताया कि किला कोर्ट ने सभी आरोपियों को 26 जुलाई तक क्राइम ब्रांच कस्टडी में भेज दिया। एफआईआर के मुताबिक, विधायक से कैबिनेट मंत्री बनवाने के बदले 100 करोड़ रुपये की डिमांड की गई थी।

5 स्टार होटेल में हुई थी मीटिंग

– मुंबई क्राइम ब्रांच ने मंगलवार को किला कोर्ट में दी गई रिमांड अप्लीकेशन में इस पूरे मामले का खुलासा किया।

– रियाज शेख ने 17 जुलाई को विधायक के सचिव को कई बार फोन करके कहा कि आज विधायक जी से 4 बजे मीटिंग है, लेकिन वह फोन नहीं उठा रहे।

– उसी शाम 4:30 बजे विधायक की दक्षिण मुंबई के 5 स्टार होटेल में अपने सचिव से मीटिंग पहले से तय थी।

– सचिव ने रियाज के बार-बार कॉल्स आने की बात बताई। विधायक ने उन्हें बताया कि रियाज ने उन्हें 12 जुलाई को फोन करके कहा था कि आपको 100 करोड़ रुपये में कैबिनट मंत्री बनवा देंगे।

– विधायक ने सचिव के जरिए रियाज को शाम को 5:15 बजे होटेल के कैफे में मिलने को कहा।

– वहां रियाज की विधायक से लंबी मीटिंग हुई।

18 करोड़ रुपये मांगे अडवांस

– रियाज ने सौदा 90 करोड़ रुपये में फिक्स किया, लेकिन अडवांस में 18 करोड़ रुपये मांगे।

– विधायक ने अगले दिन तक का वक्त लेकर यह बात अपने सचिव को बता दी।

– रियाज को 18 जुलाई को दोपहर 1:15 बजे नरीमन पॉइंट में बुलाया गया और मुंबई क्राइम ब्रांच के एंटी एक्सटॉर्शन सेल को इसकी सूचना दे दी गई।

– रियाज वहां पहुंचा, तो उसे विधायक उसी होटेल में ले गए।

– सादी वर्दी में क्राइम ब्रांच की टीम ने वहां पहुंचकर रियाज को गिरफ्तार कर लिया।

– उससे पूछताछ के बाद बाकी आरोपियों के नाम सामने आए।

मोबाइल और सिम कार्ड्स जब्त

– रियाज ने क्राइम ब्रांच को बताया कि योगेश ने उसकी पहचान सागर से कराई थी।

– संगवई ने कहा था कि विधायक को मंत्री बनाने का दिल्ली में 50 से 60 करोड़ रुपये का रेट है।

– योगेश ने रियाज से विधायक का बायोडेटा मंगवाकर सागर को वॉट्सऐप पर फॉरवर्ड किया था।

– सागर ने पूछताछ में जाफर उस्मानी को मास्टरमाइंड बताया। क्राइम ब्रांच ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया।

– सभी आरोपियों के पास से मोबाइल और सिम कार्ड्स जब्त किए गए हैं, जिनसे एविडेंस जुटाए जा रहे हैं।

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।