बिहार, पटना। ट्रैफिक दबंग यातायात अधिकारी सिर्फ नाम का काम का नही।

0

ट्रैफिक दबंग यातायात अधिकारी सिर्फ नाम का काम का नही।
सभी अधिकारी का तबादला हुआ लेकिन SI लालती देवी दबंग अधिकारी और उनके सिपाही के द्वारा पैसे को केबिन के पीछे यह फिर इस तरह से लिया जाता है कि कोई समझे चेंज मांगा जा रहा है।
SI लालती देवी का तबादला क्यों नही। मछुआ टोली ट्रैफिक पोस्ट के अधिकारी रमेश यादव जाम छुड़ाने के बजाय अपने स्टाफ के साथ गपशप करते रहते हैं।

पटना :SI लालती देवी दबंग अधिकारी में से एक है। इनके बारे में जितना भी वोला जाए उतना ही कम है। सूत्रों के अनुसार वाहन गाड़ी चेकिंग तो की जाती है लेकिन चेकिंग कुछ और रशिद कुछ और हेलमेट,प्रदूषण, इंश्योरेंस सरकारी रेट चार्ट कुछ और है लेकिन इनके द्वारा सेटिंग बेटिंग करके कुछ कम पैसे में जनता को छोड़ बिना चालान दिए बिना पैसे का ही गाड़ी को छोड़ दिया जाता है और उनके स्टाफ के द्वारा पैसे लेकर मशीन के नीचे दवा कर रख लिया जाता है ताकि किसी का ध्यान उन पर नहीं पड़े जबकि सचिवालय पोस्ट पर भारी गाड़ी का दबाव रहता है उन सब को छोड़कर वाहन चेकिंग में ज्यादा ध्यान दिया जाता है ताकि सरकार को राजस्व कम और पुलिस प्रशासन के पोस्ट अधिकारी को राजस्व ज्यादा हो सके। दूसरी ओर मछुआ टोली ट्रैफिक पोस्ट के अधिकारी रमेश यादव जाम छुड़ाने के बजाय अपने स्टाफ के साथ गपशप करते रहते हैं एवं वाहन चेकिंग के नाम पर अवैध वसूली की जाती है इसका जांच आला अधिकारी क्यों नहीं करते हैं लॉज, मॉल एवं मार्केट को लेकर मछुआ टोली पोस्ट पर ज्यादा दबाव रहता है लेकिन मछुआ टोली पोस्ट के अधिकारी के द्वारा जिनका नाम रमेश यादव है वह कुर्सी लगाकर बैठ कर सारा नजारा देखते रहते हैं

उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा।