UP: योगी सरकार की बड़ी पहल, अब मत्स्य पालन से लाखों युवाओं को देगी रोजगार

Uttar Pradesh: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मानना है कि रोजगार की अपार संभावनाएं रखने वाला मछली पालन ग्रामीण विकास और अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका रखता है। यही कारण है कि अब मछली पालन में प्रदेश सरकार युवाओं को रोजगार देने के लिये सुनहरे अवसर प्रदान करने जा रही है।

Fisherman

लखनऊ। मछली पालन से रोजगार सृजन और आय में वृद्धि की अपार संभावनाओं को देखते हुए योगी सरकार ने प्रदेश में बड़ी पहल शुरू कर दी है। कम पूंजी से शुरू होने वाले इस व्यवसाय से लाखों युवाओं को रोजगार देने के प्रयास तेज हो गए हैं। आसानी से शुरू होने वाले इस व्यवसाय से बेरोजगार युवाओं को रोजगार के अवसर तो उपलब्ध होंगे। वहीं गांव में बंजर पड़ी पंचायती जमीन पर बनाए गए तालाबों से ग्राम पंचायत की आय के साधन भी बढ़ जाएंगे।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का मानना है कि रोजगार की अपार संभावनाएं रखने वाला मछली पालन ग्रामीण विकास और अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण भूमिका रखता है। यही कारण है कि अब मछली पालन में प्रदेश सरकार युवाओं को रोजगार देने के लिये सुनहरे अवसर प्रदान करने जा रही है। इस दिशा में मत्स्य पालन विभाग की ओर से कई लाभकारी योजनाएं शुरू होने जा रही हैं। जिससे बेरोजगारी तो दूर होगी और साथ में मत्स्य पालन को बढ़ावा भी मिलेगा। पिछली सरकारों ने इस दिशा में कोई महत्वपूर्ण कार्य नहीं किया जिस कारण रोजगार के बड़े अवसर प्रदान करने वाला यह क्षेत्र पिछड़ा रह गया।

Yogi adityanath

खेती के साथ-साथ मछली पालन किसानों आय में करेगा बढ़ोत्तरी

मत्स्य पालन विभाग की ओर से किसानों के लिए कई योजनाएं चलाई जा रही है। मत्स्य पालन का प्रशिक्षण देने के साथ ही इसके विस्तार के प्रयास सरकार की ओर से किए जा रहे हैं। अब किसान खेती के साथ-साथ मछलीपालन करके भी अपनी आय में बढ़ोतरी कर सकते हैं।

चार वर्षों में बढ़ा कई गुना उत्पादन

गौरतलब है कि प्रदेश सरकार ने पिछली सरकारों की अपेक्षा मत्स्य जलाशयों की अवधि को 3 वर्ष से बढ़ाकर 10 वर्ष की है। यही कारण है कि बीते चार साल वर्षों मे प्रदेश में 26.44 लाख मी.टन मत्स्य उत्पादन हुआ। चार वर्षों में 1191.27 करोड़ मत्स्य बीज उत्पादन हुआ और 5902 मत्स्य पालकों को किसान क्रेडिट कार्ड वितरित किये गये। प्रदेश सरकार ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना लागू करके निःशुल्क मछुआ दुर्घटना बीमा योजना का लाभ भी किसानों को दिलवाया।

चार वर्षों में आवंटित किये गये प्रदेश के 2215 मछुआ आवास

गौरतलब है कि वर्तमान सरकार ने पिछले चार वर्षों में प्रदेश के 2215 मछुआ आवास आवंटित किए हैं। इसके साथ ही यूपी के मत्स्य पालकों को फिश फार्मर ऐप का संचालन कर सुविधाओं में इजाफा किया है। प्रदेश में 57 मत्स्य बीज हैचरी और 385 मत्स्य बीज रियरिंग यूनिट का निर्माण होने से सीधे तौर पर लोगों को लाभ मिल रहा है। कुछ समय पूर्व योगी सरकार के नेतृत्व में बेस्ट स्टेट ऑफ इन्लैण्ड फिशरीज़ का प्रथम पुरस्कार भी उत्तर प्रदेश को हासिल हुआ है। प्रदेश सरकार की यह सबसे बड़ी उपलब्धि बना है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: