बिहार गोपालगंज की पहली मुस्लिम महिला राजिया सुल्ताना ने डायरेक्ट डीएसपी बनकर बिहार का नाम किया रोशन

*रजिया सुल्ताना बीपीएससी से
डीएसपी बनने वाली बिहार के प्रथम मुस्लिम महिला,वरिष्ठ पत्रकार चौधरी अफज़ल नदीम की खास रिपोर्ट-

नई दिल्ली-रजिया सुल्ताना बिहार पब्लिक सर्विस कमिशन की परीक्षा में प्रथम मुस्लिम महिला बीपीएससी से डीएसपी बनी है।बीपीएससी से डीएसपी का सफर तय करना बहुत आसान नही था लेकिन जुनून कुछ भी करा सकता है।बिहार के गोपालगंज के हथुआ के रतनचक के निवासी रजिया सुल्ताना पिता असलम अंसारी की सुपुत्री ने बीपीएससी की 64वी परीक्षा में सफल होकर इतिहास रच दी।बीपीएससी से डारेक्ट डीएसपी पद पे चयनित किया गया।बताया जाता है कि रजिया सुल्ताना बिहार की पहली मुस्लिम महिला है,जो बीपीएससी से डायरेक्ट डीएसपी बनी है।इस बार 40 डीएसपी में चार मुस्लिम हैं।कुल 1454 में 98 मुस्लिम कामयाब हुए हैं।मीडिया जगत से भारतीय न्यूज़ एजेंसी के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ हरभजन सिंह सिद्धू ने बताया की बीपीएससी से अबतक बिहार की कोई मुस्लिम महिला डायरेक्ट डीएसपी नही बनी थी।

*पहले प्रयास में मिली सफलता*

रिपोर्टर चौधरी अफ़ज़ल नदीम

रजिया सुल्ताना ने 2009 में बोकारो से मैट्रिक किया।2011 में बोकारो से प्लस टू किया और फिर जोधपुर से इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में स्नातक पास किया।2017 से वह बिजली विभाग में सहायक अभियंता के पद पर कार्यरत थी।रजिया सुल्ताना से वरिष्ठ पत्रकार चौधरी अफज़ल नदीम ने इंटरव्यू के दौरान पूछा कि आप बीपीएससी की तैयारी कहाँ से की ,सब्जेक्ट क्या-क्या था और इतनी बड़ी कामयाबी के पीछे आप किसको श्रेय देती हैं।रजिया ने बताया की मैं सेल्फ स्टडी की क्योंकि पटना में बीपीएससी की कोचिंग हिंदी में होती है और मैं इसके थोड़ा सहज नहीं थीं।तो मैंने खुद से सेल्फ स्टडी की और अंग्रेजी माध्यम में सभी पेपर दिए।कामयाबी के श्रेय खुद की मेहनत और अब्बू अम्मी का सपना था अल्लाह ताअला का बहुत शुक्रिया अदा करती हूँ।सब्जेक्ट श्रम एवं समाज कल्याण था।रजिया बिहार की राज्यधानी पटना में नौकरी करते तैयारी की और पहले ही प्रयास में रच दी इतिहास,बन गई बिहार की पहली मुस्लिम महिला बीपीएससी से डीएसपी।रजिया सुल्ताना के वालिद बोकारो स्टील प्लांट में स्टेनोग्राफर पद पे थे।अब वह इस दुनिया में नही है।सात भाई-बहनों में रजिया सबसे छोटी है।इकलौता भाई एमबीए कर झाँसी में एक निजी कंपनी में काम करते हैं।डीएसपी के रूप में उनकी पहली प्राथमिकता क्राइम कंट्रोल होगी।साथ ही घरेलू हिंसा या महिलाओं के साथ होने वाली वारदात को जड़ से सफाया करना है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: