बलरामपुर जिले के विकासखण्ड हैरय्या सतघरवा में बाल विकास पुष्टाहार विभाग द्वारा योजनाओं का लाभ ना मिलने से नाराज़ ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया

विकासखंड हरैया सतघरवा जनपद बलरामपुर उत्तर प्रदेश
बाल विकास पुष्टाहार विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ न मिलने से नाराज ग्रामीणों ने आंगनबाड़ी कार्यकत्री के विरुद्ध प्रदर्शन कर कार्यवाही की मांग जिलाधिकारी से की है। मामला ब्लाक हरैय्या सतघरवा के छितौनी ग्राम पंचायत से जुड़ा है।
ग्रामीण राजेश कुमार आर्य, सरोज पाठक, राकेश कुमार, छोटेलाल, मजनू, नानमून, हरीराम, जानकी, ओमप्रकाश, भदई, लालबहादुर, जुग्गीलाल, बड़ेलाल, फकीरे, सुरेंद्र कुमार, बंशीलाल, श्याम सुंदर, दुखराम, प्रमोद कुमार, आशाराम, बेचनलाल, मंसाराम, शेषकुमार, कैलाश, भोले, राजकुमार आदि लोगों ने जिलाधिकारी को दिये हुये पत्र में आरोप लगाया है कि आंगनबाड़ी कार्यकत्री कंचनलता मिश्रा पात्र लाभार्थियों को सूखा राशन, घी, दूध व अन्य खाद्य सामग्री न देकर कालाबाजारी कर दी हैं तथा फर्जी तरीके से सूची में लाभार्थी का नाम लिखकर अभिलेख को कम्प्लीट कर लिया गया है। ग्रामीणों के विरोध करने पर आंगनबाड़ी कार्यकत्री कहती है कि विभागीय उच्चाधिकारियों को मैनेज करना पड़ता है इसलिए सम्पूर्ण खाद्य सामग्री का वितरण करना सम्भव नही है। विरोध करने वाले ग्रामीणों को फर्जी मुकदमें में फंसाने की धमकी दी जा रही है। खाद्य सामग्री वितरण सूची में जिन लोगों का नाम लिखा है उनमें से ज्यादातर लोगों को कोई सामग्री नही मिली है। आंगनबाड़ी कार्यकत्री केंद्र पर कभी कभार आती है जिन बच्चों का नाम आंगनबाड़ी द्वारा पंजीकृत किया गया है उन्हीं बच्चों का नाम परिषदीय विद्यालय में दर्ज है। आंगनबाड़ी कार्यकत्री कंचनलता मिश्रा एवं ज्योति स्वयं सहायता समूह नंदनगर दितीय (छितौनी) के मिलीभगत से पात्र लाभार्थियों को खाद्य सामग्री कई माह से नही दिया जा रहा है। पात्र लाभार्थियों का हक कालाबाजारी कर दिया जाता है। इस बाबत आंगनबाड़ी कार्यकत्री कंचनलता मिश्रा ने बताया कि लगाये गये सभी आरोप निराधार व बेबुनियाद है। जिला कार्यक्रम अधिकारी केएम पाण्डेय ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है जांच कराई जायेगी, दोषी पाये जाने पर सम्बन्धित के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी।

Leave a Reply

%d bloggers like this: