बिहार सारण जिले के सगे भाई बहन बने दरोगा परीक्षा में लहराया परचम

Prev 1 of 1 Next
Prev 1 of 1 Next
बिहार सारण ज़िला के सगे भाई-बहन पहली बार में दरोगा की परीक्षा में परचम लहराया वरिष्ठ पत्रकार चौधरी अफज़ल नदीम की खास रिपोर्ट-

नई दिल्ली-बिहार के सारण ज़िला के सगे भाई-बहन ने पहली बार में ही दरोगा की परीक्षा में सफलता का परचम लहराया।बिहार के छपरा शहर के गुदरी निवासी अल्पसंख्यक समुदाय के सगे भाई-बहन पहली बार में ही दरोगा की परीक्षा में सफलता हासिल कर अपने खानदान सहित सारण ज़िला का नाम रौशन किया।मोहम्मद हारून रशीद एवं रूही फातमा एक साधारण परिवार से आते हैं।छपरा शहर के गुदरी निवासी दोनों भाई बहन अपनी सफलता का श्रेय अपने अब्बू अम्मी एवं पटना हज भवन आदर्श शिक्षण संस्थानों को माना है।पहली बार में बिहार दरोगा परीक्षा में सफलता प्राप्त मोहम्मद हारून रशीद का कहना है कि सच्ची लगन व दृढ संकल्प हो तो सफल होने से कोई रोक नहीं सकता।मोहम्मद हारून रशीद अल्पसंख्यक कल्याण विभाग द्वारा हज भवन में संचालित कोचिंग का सहारा लेकर रोजाना 4 से 6 घंटा तैयारी किया करता था।रूही फातिमा बिहार प्रशासनिक सेवा की तैयारी में जुटी है।बिहार दरोगा परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के बाद रूही फातमा का मानना है कि अपने दायित्वों का निर्वहन करते हुए व कानून के दायरे में रहकर खासकर महिलाओं की मदद करने का मौका मिला है।मैं पूरी ईमानदारी के साथ महिलाओं को न्याय दिलाने के प्रति मेरा प्रयास निरंतर जारी रहेगा।रूही फातमा ने परीक्षा की तैयारी में जुटे छात्रों को संदेश दिया कि ईमानदारी व मजबूत हौशला हो तो सफल होने से कोई रोक नहीं सकता है।

रिपोर्टर चौधरी अफ़ज़ल नदीम

Leave a Reply

%d bloggers like this: