लखनऊ में राष्ट्रीय ओलमा काउंसिल ने 2022 यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर की बैठक

छोटे दल ही अब UP में विकल्प बनेंगे – आमिर रशादी।*

राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल के प्रदेश कार्यकारिणी ने 2022 की तैयारी में बैठक की।

राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल उत्तर प्रदेश कार्यकारिणी की समीक्षा बैठक लखनऊ में सम्पन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अनिल सिंह ने की और राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। बैठक में पार्टी पदाधिकारियों के साथ प्रदेश संगठन समीक्षा की गई तो वहीं आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर चिंतन मंथन भी हुआ।
पार्टी अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में उपस्थित पदाधिकारियों का उत्साहवर्धन करते हुए उन्हें आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारी में मजबूती से लग जाने का आह्वान किया और कहा कि, “अभी सम्पन्न हुए ज़िला पंचायत चुनावों में पार्टी का प्रदर्शन बहुत शानदार रहा और आज़मगढ़, जौनपुर, बहराइच, मुरादाबाद आदि समेत प्रदेश के कई जिलों में ज़िला पंचायत सदस्य के चुनाव में जीत हासिल की है और पार्टी का प्रदर्शन 2015 के पंचायत चुनावों से इस बार बहुत बेहतर रहा है और हमारा वोट पर्सेंटेज में भी काफी वृद्धि हुई है जिससे कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ा है और अब हम सब को मिलकर मज़बूती से आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव की तैयारी में अपनी ऊर्जा केंद्रित करनी होगी। उन्होंने कहाकि, “इस जोश को क़ायम रखते हुए अब प्रदेश की सत्ता बदलने तक रुकना नही है क्योंकि आज भाजपा राज में UP की जनता त्राहि त्राहि कर रही है, महंगी बिजली-पेट्रोल, अव्यवस्थित स्वास्थ सेवाएं, बेरोज़गारी और भ्रष्टाचार ने आम लोगों की कमर तोड़ दी है और विपक्ष के नाम पर सारे दल खामोश बैठे हैं, मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी भी केवल सोशल मीडिया तक सीमित हो गयी गई ऐसे में अब छोटे दलों को ही विकल्प बनना होगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं की हौसला अफजाई करते हुए उन्हें ये संदेश दिया गया कि अब वो सब नए जोश के साथ संगठित हो 2022 के विधानसभा चुनावों की तैयारी में लग जाएं। जनता बदलाव चाहती है और हमे ज़मीन पर जनता के साथ जुड़ कर इस बदलाव को अमली जामा पहनाना है। अन्य दलों के साथ गठबंधन के सिलसिले में उन्होंने कहाकि कि, “राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल हमेशा से सामान्य विचारधारा के दलों से गठबंधन करने के पक्ष में रही है और आज भी हमारी कोशिश जारी है पर गठबंधन के लिए हम अपने वसूलों और वक़ार से समझौता करने को तैयार नही हैं क्योंकि हमारी संघर्ष क़ौम को बावकार बनाने का है”।

बैठक को पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मौलाना मुक़्तदा हुसैन मिस्बाही, एजाज नदवी, महासचिव डॉ ज़फर आलम अलीग ,राष्ट्रीय सचिव मुफ्ती गुफरान अहमद क़ासमी,धरमवीर यादव ने भी संबोधित किया और इस अवसर पर दर्जनों लोगों ने राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल की सदस्यता भी ली और कई नए पदाधिकारी भी नियुक्त किये गए।
बैठक का संचालन पार्टी प्रवक्ता एडवोकेट तलहा रशादी ने किया।सीीी

Leave a Reply

%d bloggers like this: