उन्नाव जिले के फतेहपुर चौरासी क्षेत्र के एक ग्राम पंचायत में मनरेगा योजना के तहत एक तालाब में हेराफेरी करने का लगा आरोप ग्रामीणों ने सीडीओ को पत्र देकर जांच करने की मांग

हर्ष शुक्ला रिपोर्टर तहलका न्यूज़ फतेहपुर चौरासी जिला उन्नाव
राकेश बाजपेई विशेष संवाददाता तहलका न्यूज़ जिला उन्नाव

यूपी उन्नाव जनपद फतेहपुर चौरासी क्षेत्र की एक ग्रामपंचायत में मनरेगा योजना के तहत जीर्णोद्धार कराये जा रहे तालाब में ग्रामीण ने मुख्यविकास अधिकारी को शिकायती पत्र देकर जिम्मेदारो द्वारा अभिलेखों में हेराफेरी करने एवं गलत भौगोलिक स्थित दिखाकर सरकारी धन का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया है।वही ग्राम विकास अधिकारी ने वर्क आई डी में त्रुटिवश हो गयी प्रिंटिग मिस्टेक को कारण बताया है।

विकास खण्ड फतेहपुर चौरासी की ग्रामपंचायत लखनापुर में मनरेगा योजना के अंतर्गत खजुहा तालाब की खुदाई (जीर्णोद्धार)का कार्य चल रहा है।गांव निवासी नंदकिशोर पुत्र रामस्वरूप ने मुख्य विकास अधिकारी को शिकायती पत्र देकर आरोप लगाया है कि ग्राम प्रधान व ग्राम विकास अधिकारी की आपसी मिली भगत से नई वर्क आई डी जनरेट कर सरकारी अभिलेखों की हेराफेरी कर मौके की भौगोलिक स्थिति झूठी दर्शा कर मौजूदा समय में ग्राम पंचायत में खजुहा तालाब के तृतीय भाग का जीर्णोद्धार कार्य कराया जा रहा है।शिकायत कर्ता ने शिकायती पत्र में पूर्व में जारी की गई वर्क आई डी का उल्लेख करते हुए बताया है कि उक्त तालाब के तृतीय भाग का जीर्णोद्धार पूर्व वित्तीय वर्ष 2020-2021 में खजुहा तालाब के नाम से कराया जा चुका है।
शिकायती पत्र में नन्दकिशोर ने दावा किया है कि मनरेगा एक्ट योजना के अंतर्गत कोई भी कार्य कराने की न्यूनतम अवधि तीन वर्ष के पश्चात ही उस कार्य का जीर्णोद्धार कराया जा सकता है किन्तु ग्राम पंचायत में कुछ ही महीनों में अधिकारियों की मिली भगत से नई आईडी जनरेट करा कर वित्तीय स्वीकृति कर करा ली गई है उन्होंने बताया कि जिस तालाब का जीर्णोद्धार किया जा रहा है वह पहले से ही 3 मीटर गहरा है तथा नए वित्तीय वर्ष में नई आईडी बनाकर उसी तालाब को डेढ़ मीटर गहरा करने का स्टीमेट तैयार कर सरकारी धन का बंदरबांट कर लिया गया है
नंदकिशोर ने अपने शिकायत पत्र में कहा है कि जब उसने उपरोक्त विषय को लेकर ग्राम विकास अधिकारी से मुलाकात की तो वह सीधा जवाब न देकर बोले कि ज्यादा ईमानदार ना बनो गांव में ऐसा ही चलता है और गांव से लेकर उच्चाधिकारियों तक कमीशन देना पड़ता है ।
ग्राम पंचायत के तालाब प्रकरण पर जब ग्राम विकास अधिकारी से मुलाकात की गयी तो उन्होंने लेन देन की बात को मनगढ़ंत बताते हुये बताया कि मौजूदा समय मे खजुहा तालाब के द्वितीय भाग की खुदाई का कार्य चल रहा है।उसी की नई वर्क आई डी जनरेट की गई है।आई डी में प्रिंटिग मिस्टेक के चलते द्वितीय के स्थान पर तृतीय अंकित हो गया है।जिसके लिए उपायुक्त श्रम रोजगार को पत्र के माध्यम से अवगत कराया गया है।तथा डी पी आर अनफ्रिज कराने का अनुरोध किया गया है।शीघ्र ही त्रुटि का सुधार कर लिया जाएगा।

तहलका न्यूज के लिए विशेष संवाददाता राकेश बाजपेई के साथ संवाददाता हर्ष शुक्ला की रिपोर्ट,

Leave a Reply

%d bloggers like this: