यूपी देवीपाटन मंडलायुक्त ने निर्माण कार्यों की प्रगति को लेकर की मंडलीय समीक्षा बैठक में मंडलायुक्त ने कहा कि अधिकारी अधूरी परियोजनाओं को शीघ्र कराएं पूर्ण

यूपी देवीपाटन मंडल आयुक्त ने की निर्माण कार्यों की प्रगति की मंडलीय समीक्षा*
*अधिकारी अधूरी परियोजनाओं को शीघ्र पूर्ण कराएं*
*तेजी से निर्माण न करने वाले ठेकेदार होंगे ब्लैक लिस्टेड*
*मंडल के 10 प्रतिशत सड़कों की मरम्मत का कार्य प्लास्टिक तकनीक से कराए जाने का प्रस्ताव*
आयुक्त, देवीपाटन मंडल श्री एस०वी०एस० रंगाराव ने सड़क परियोजनाओं को छोड़कर रुपये 50 लाख एवं उससे अधिक लागत के अन्य निर्माण कार्यों तथा रुपए 50 करोड़ से अधिक लागत के लोक निर्माण विभाग, सेतु निर्माण इकाई, उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम तथा विद्युत पारेषण खण्ड आदि कार्यदायी संस्थाओं के कार्यों के प्रगति की मंडलीय समीक्षा बैठक में संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे परियोजनाओं के निर्माण की प्रगति में तेजी लाये तथा अधूरी परियोजनाओं को शीघ्र पूरा करायें। उन्होंने कहा है कि अवशेष धनराशि का शत-प्रतिशत उपयोग करते हुए कार्य को गति दें तथा जो धनराशि अवमुक्त नहीं हुई है उसके लिए प्रयास कर अवमुक्त करायें। बैठक में अवगत कराया गया कि भविष्य में मंडल की 10 प्रतिशत सड़कों की मरम्मत का कार्य प्लास्टिक तकनीक से कराए जाने का प्रस्ताव स्वीकृत हेतु शासन को भेजा गया है।
आयुक्त ने समीक्षा बैठक में निर्देशित किया है कि ऐसे ठेकेदार जिनके द्वारा निर्माण कार्य तेजी से नहीं कराए जा रहे हैं, उन्हें ब्लैक लिस्टेड कराने की कार्यवाही की जाए। उन्होंने जनपद श्रावस्ती में स्वदेश दर्शन योजना में बौद्ध सर्किट के अंतर्गत पर्यटन विकास कार्य की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया है कि शेष रह गए बुद्धा थीम पार्क कार्य एवं ओ० ए० टी० का कार्य आगामी अगस्त माह तक अवश्य पूर्ण करा लिया जाए।
मंडल में 50 करोड़ से अधिक लागत के निर्माण कार्य की कुल 16 परियोजनाएं हैं। जिसमें गोंडा की 6, बलरामपुर की 3, बहराइच की 5, तथा श्रावस्ती की 2, परियोजनाएं सम्मिलित हैं। आयुक्त ने समीक्षा के दौरान सड़क सुरक्षा बोर्ड लगाये जाने तथा अधूरी सड़कों का निर्माण शीघ्र पूर्ण कराए जाने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर संयुक्त विकास आयुक्त श्री वीरेंद्र प्रसाद पांडे, उपनिदेशक अर्थ एवं संख्या श्री आर० के० मिश्रा, मुख्य अभियंता लोक०नि०वि ०श्री अंबिका सिंह, अन्य कार्यदायी संस्थाओं से संबंधित
अधीक्षण अभियंता, अधिशासी अभियंता, परियोजना प्रबंधक सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे। तहलका न्यूज़ अपडेट

Leave a Reply

%d bloggers like this: