यूपी बलरामपुर स्वास्थ्य कर्मी की भूल से पोर्टल पर अपडेट हुई कोरोना की दूसरी खुराक सीएमओ, महिला के मौत के बाद कोविड वैक्सीन देने का मामला

यूपी बलरामपुर स्वास्थ्यकर्मी की भूल से पोर्टल पर अपडेट हुई कोरोना वैक्सीन की दूसरी खुराक: सीएमओ
-महिला की मौत के बाद कोविड वैक्सीन दिये जाने का मामला -टीकाकरण केन्द्र पर मानवीय भूल के कारण पोर्टल पर अपडेट हो गई मृतक महिला की दूसरी डोज। बलरामपुर, 09 सितम्बर। 81 वर्षीय महिला की मौत के बाद कोविड वैक्सीन की दूसरी खुराक दिये जाने के मामले में स्वास्थ्य विभाग ने इसे मानवीय भूल बताया है और दोषी कर्मचारी को कठोर चेतावनी दी है। बीते दिन सोशल मीडिया पर मृतक का कोविड टीकाकरण प्रमाण पत्र व मृतक प्रमाण पत्र जारी होने के बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने टीम गठित कर जांच के आदेश दिये थे। बुधवार को जांच टीम ने परिजनों व स्वास्थ्य टीम से साक्ष्य संकलन का मामले की रिपोर्ट सीएमओ को दी।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सुशील कुमार ने गुरूवार को बताया कि बुधवार को प्रकरण के सामने आने पर जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. अरूण कुमार व उतरौला सीएचसी अधीक्षक डा. चंद्रप्रकाश को मामले की जांच सौपी गई थी। जांच के दौरान पता चला कि परिवार के एक ही मोबाइल नम्बर से कोरोना वैक्सीन लगाने के लिए चार लोगों के पंजीकरण किये गये थे। जिसमें राजपति, सांवरी देवी, राजकुमारी व उधव शामिल हैं। इसमें से राजकुमारी व उधव ने दूसरी डोज अन्य कोविड टीकाकरण केन्द्र पर लगवाया जबकि सांवरी देवी अपनी दूसरी डोज लगावाने के लिए टीकाकरण केन्द्र पकड़ी पर बीते 28 अगस्त को गई। टीकाकरण केन्द्र पर नियमित टीकाकरण दिवस के कारण लाभार्थियों की काफी भीड़ भी थी इसलिए केन्द्र पर तैनात सी.एच.ओ. के द्वारा डेटा अकेले ही पोर्टल पर अपडेट किया जा रहा था। पोर्टल पर पंजीकृत मोबाइल नम्बर पर संवरी देवी के साथ राजपति का भी नाम प्रदर्शित हो रहा था। भीड़ अधिक होने के कारण मानवीय भूल से सांवरी देवी की जगह राजपति की दूसरी डोज पोर्टल पर अपडेट हो गई। जब वैक्सीन लगाने के लिए स्वास्थ्यकर्मी द्वारा राजपति को बुलाया गया तो सांवरी देवी ने बताया कि उनकी मृत्यु हो गई है। जिसके बाद पोर्टल से दूसरी डोज को हटाने का प्रयास भी किया गया लेकिन पोर्टल पर डिलीट आॅप्शन ना होने के कारण डोज पोर्टल से हटाया ना जा सका। सांवरी देवी को उसी दिन वैक्सीन की दूसरी खुराक दी गई। सीएमओ डा. सुशील कुमार ने बताया कि जांच में जो तथ्य सामने आये है उसके अनुसार टीकाकरण केन्द्र पर अत्यधिक भीड़ हो जाने के कारण मानवीय भूलवश मृतक का नाम अपडेट हो गया था। इस सम्बन्ध में सम्बन्धित को कठोर चेतावनी दी गयी है कि भविष्य में ऐसी पुनरावृत्ति न हो।
-ये था मामला
उतरौला तहसील क्षेत्र के नयानगर विशुनपुर गांव के मजरे फकीरापुर की रहने वाली 81 वर्षीय बुजुर्ग महिला राजपति ने हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर बढ़या पकड़ी में 14 अप्रैल 2021 को कोवीशील्ड वैक्सीन की पहली खुराक ली थी और दूसरी डोज उन्हे 84 दिन बाद दी जानी थी लेकिन इसी बीच 04 जून 2021 को उनकी मौत हो गई। राजपति की मौत के बाद 28 अगस्त 2021 को स्वास्थ्य कर्मी ने उनके वैक्सीन की दूसरी खुराक को पोर्टल पर अंकित कर दिया। जिसके बाद 81 वर्षीय मृतक बुजुर्ग महिला राजपति का टीकाकरण प्रमाण पर भी आॅनलाइन बन गया और मामला सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। तहलका न्यूज़ के लिए मिट्ठू शाह की रिपोर्ट TAHALKANEWS OFFICE CON NO 9198041777

Leave a Reply

%d bloggers like this: