उन्नाव जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार ने जिला अस्पताल का किया औचक निरीक्षण

प्रमोद सिंह ब्यूरो चीफ उन्नाव

यूपी उन्नाव डेंगू मलेरिया आदि जैसे रोगों का प्रकोप जनपद में न फैलने पाये (रोगों से जनपद को बचाने हेतु) आज जिलाधिकारी रवीन्द्र कुमार द्वारा जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी द्वारा जिला अस्पताल में यह भी देखा गया कि आयुष्मान कार्ड कितने बनाए गए हैं जिस पर उन्हें बताया गया कि तीन आयुष्मान कार्ड बनाए गए हैं। अस्पताल परिसर में गंदगी देख जिलाधिकारी ने संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि अस्पताल में किसी भी प्रकार की गंदगी नहीं दिखनी चाहिए, अस्पताल का वातावरण साफ सुथरा होना चाहिए तभी मरीज जल्दी स्वस्थ होकर अपने घरों को जाएंगे। उन्होंने निरीक्षण के दौरान इस बात को बारीकी से जांचा कि मरीजों के पर्चें मेंt चिकित्सक द्वारा बाहरी दवाई तो नहीं लिखी जाती है किसी भी मरीज को किसी भी प्रकार की कोई असुविधा का सामना तो नहीं करना पड़ रहा है। उन्होंने वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ से इस बात की जानकारी ली कि कोई बुखार का केस तो नहीं आया है डेंगू मलेरिया जैसे भ्रामक रोगों की संभावना तो नहीं हो रही है।
जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा अधीक्षक कक्ष भी देखा जिसमें उन्होंने समस्त कैमरे को सही कराने के निर्देश दिए जिससे कि वहीं बैठ कर मॉनिटरिंग की जा सके इमरजेंसी वार्ड आदि में कोई गंभीर समस्या आए तो उन्हें पता चल सके तथा सभी को मास्क लगाने के निर्देश दिए अस्पताल में उपस्थित कुछ मरीज बिना मास्क के पाये गये जिस पर जिलाधिकारी ने तत्काल उन्हें मास्क उपलब्ध कराए। जिलाधिकारी ने अपने निरीक्षण के दौरान वायरल फीवर, डेंगू, मलेरिया सर्दी जुखाम, रेपिड किट आदि के बारे में जानकारी ली। उन्होंने औषधि वितरण कक्ष भी देखा। जिलाधिकारी ने दवाई लेने हेतु लाइन में खड़े मरीजों के पर्चें देखे कि किसी पर्चें में चिकित्सक द्वारा बाहर की दवाई तो नहीं लिखी जाती हैं, जिस पर्चें पर बाहरी दवाईयां लिखी पायी गयी उस पर सम्बन्धित चिकित्सक को तत्काल हटाने के निर्देश दिए। उन्होंने मरीजों से पूछा कि किसी भी मरीज को दवा आदि मिलने में परेशानी तो नहीं होती है।
अस्पताल में जनरल वार्ड में भर्ती मरीजों का हाल जाना उन्होंने पूछा अस्पताल में खाना पानी, दवाइयां, सब समय से उपलब्ध हो रहा है या नहीं, चिकित्सक समय पर देखने आते हैं या, नहीं चादरे आदि बदली जाती हैं या नहीं। जिलाधिकारी ने सिक न्यू बोर्न केयर यूनिट के अंतर्गत एन0आर0सी0 वार्ड का भी निरीक्षण किया। जिसमें उन्होंने बेड की उपलब्धता व भर्ती बच्चों की संख्या जानी, जिस पर उन्हें बताया गया कि वर्तमान में 04 बच्चे भर्ती हैं, भर्ती बच्चों के वार्ड में ए0सी0 न चलने पर संबंधित को तत्काल निर्देशित कर ए0सी0 को ठीक कराने के निर्देश दिए। भर्ती बच्चों की माताओं से उनका हाल जानते हुये उन्होंने पूछा कि बच्चों को अब आराम है या नहीं, खाना-पीना उन्हें समय से मिल रहा है या नहीं, कैसा खाना मिल रहा है, किसी प्रकार की असुविधा तो नहीं हो रही है, बच्चों का वजन बढ़ रहा है या नहीं, दवाई मिलने में समस्या तो नहीं। उन्होंने एन0आर0सी0 प्ले एरिया कक्ष भी देखा जिसकी व्यवस्थायें सन्तोषजनक न पाये जाने पर तत्काल सम्बन्धित को उसेे ठीक कराने के निर्देश दिए।
निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा0 पवन कुमार, मुख्य चिकित्सा अधीक्षिका डा0 अन्जू दुबे, डा0 धीर सिंह व अन्य चिकित्सक स्टाॅफ उपस्थित रहे। तहलका न्यूज ब्यूरो प्रमुख प्रमोद सिंह, TAHALKANEWS OFFICE CON NO 9198041777

Leave a Reply

%d bloggers like this: